Romantic Places Of Udaipur
Romantic Places Of Udaipur

पुराने शहर के ऊपर जगमगाता सिटी पैलेस, झीलों के बीच में जड़े हुए महल, प्रत्येक कोने पर बने रोमांटिक रेस्तरां, इन सबके बीच जोड़ों के लिए उदयपुर में करने के लिए बहुत कुछ है। कई रोमांटिक फिल्मों की पृष्ठभूमि रहे, उदयपुर की खूबसूरती इसके शाही वैभव और शानदार आभा में झलकती है। यहां आप एक दिन के लिए राजा या रानी बनने का अनुभव ले सकते हैं, रोमांटिक बोट पर सैर कर सकते हैं, पिछोला झील के चमकदार पानी के किनारे ठहर सकते हैं और दूध तलाई के आसपास हाथ में हाथ डालकर घूम सकते हैं। यहां इस गाइड के जरिए हम आपको बताएंगे कि झीलो की नगरी उदयपुर में आप कैसे सबसे अच्छे रोमांटिक अनुभव का अहसास कर सकते हैं।

जग मंदिर और सिटी पैलेस से डूबते सूरज के नज़ारे को देखने के लिए दूध तलाई उदयपुर के पिछोला झील के दक्षिण-पूर्वी भाग में स्थित आदर्श स्थान है। इस जगह पर उदयपुर के दो हरे भरे बगीचे -एम.एल वर्मा गार्डन और पंडित दीन दयाल उपाध्याय पार्क स्थित हैं, दूध तलाई शहर शोर शराबे से बचने की अच्छी जगह है। एम एल वर्मा गार्डन को कठोर चट्टानों को तराशकर बनाया गया है। यहां से पिछोला झील के झिलमिल करते पानी के अदभुत दृश्य दिखाई देता है। पंडित दीन दयाल उपाध्याय पार्क को दूध तलाई संगीत गार्डन के रूप में भी जाना जाता है, यहां एक संगीतमय फव्वारा है जो राजस्थान में अपनी तरह का इकलौता फव्वारा है। एडवेंचर प्रेमियों के लिए करणी माता रोपवे है जहां से पर्यटक शहर का अतुलनीय नज़ारा देख सकते हैं।

पिछो ला झील
यह खूबसूतरत झील उदयपुर के बेहद करीब स्थित है। ऐसा माना जाता है कि इसे 14-वीं शताब्दी में स्थानीय खानाबदोशियों द्वारा बनवाया गया था और बाद में 16वीं शताब्दी में मेवाड़ के शासक राणा उदय सिंह द्वितीय ने इसके निर्माण को आगे बढ़ाया। इसके किनारे सिटी पैलेस, घाट, हवेलियों और पहाड़ियों से लगते हैं। जबकि अपने आप में झील कई द्वीप महलों से भरी हुई है। जिन्हें देखने के लिए आप सिटी पैलेस से नाव की सवारी ले सकते हैं।

इसका केंद्र जग निवास द्वीप पर लेक पैलेस है। पूरी तरह से सफेद संगमरमर से बना, यह उदयपुर की सबसे प्रतिष्ठित जगहों में से एक है। इस जगह को कई फिल्मों में दिखाया गया है जिसमें सन् 1983 में आई जेम्स बॉन्ड की लोकप्रिय फिल्म “ऑक्टोपसी” एक है। अब यहां ताज ग्रुप द्वारा एक लग्ज़री होटल चलाया जाता है, मूल रूप से इसका निर्माण सन् 1740 में राणा जगत सिंह द्वितीय ने गर्मियों की छुट्टियां बिताने के लिए किया था।

सज्जन गढ़
पहाड़ी पर बसा यह महल 19वीं शताब्दी में सज्जन सिंह ने मॉनसून पैलेस के रुप में बनवाया था। यहां घने जंगलो में बनी सज्जनगढ़ वाइल्ड लाइफ सेंचुरी से होते हुए बांसवाड़ा के रास्ते पहुंचा जा सकता है। जबकि असलियत यह है कि महल के अदंर देखने के लिए ज्यादा कुछ नहीं है, बल्कि यह उदयपुर शहर के मनमोहक दृश्यों और आसपास के इलाके के साथ सूर्यास्त देखने के लिए सबसे अच्छा स्थान है। आप कॉफी और स्नैक्स के लिए यहां के खूबसूरत गार्डन कैफे में आ सकते हैं।

सिटी पैलेस
विशाल परिसर में फैला यह राजस्थान का सबसे बड़ा महल है। इसे पहली बार 16वीं शताब्दी में उदयपुर के संस्थापक महाराणा उदय सिंह ने बनवाया था और इसके बाद उनके उत्तराधिकारियों ने लगातार इसका विस्तार किया। आज, महल कई संग्रहालयों में विभाजित है। सिटी पैलेस संग्रहालय इनमें से पहला है जिसमें महलों, आंगनों और निजी कक्ष शामिल हैं जो एक संकीर्ण रास्तों से जुड़ा हुआ है।आप पारंपरिक मेवाड़ी चित्रों, रंगीन मोज़ाइक, कांच की खिड़कियां और सभी जगह शीशे की कारीगरी और बाहर झील को देख सकते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here