waynad
waynad

Wayanad भारत के केरल राज्य का एक बेहद खूबसूरत जिला है। हरे-भरे पहाड़, घने जंगल, वाइल्ड लाइफ को नजदीक से देखने और इंजॉय करने का शौक अगर आप रखते हैं तो वयनाड हिंदुस्तान के उन पर्यटन स्थलों में से एक है, जहां आपको जरूर जाना चाहिए। आइए जानते हैं वयनाड में कौन-सी जगहें पर्यटन के लिए खास हैं…

वयनाड की खासियत (Wayanad district)
वयनाड केरल का वह जिला है, जहां धान की खेती सबसे अधिक होती है। धान की प्रमुखता के कारण ही इस जगह का नाम वयनाड पड़ा। यह शब्द वहां की स्थानीय भाषा मलयालम में धान की अत्यधिक खेती को परिभाषित करता है। वयनाड जैसी जगहों के कारण ही केरल को ‘ग्रीन पैराडाइज’ भी कहा जाता है। यहां बड़ी संख्या में आदिवासी रहते हैं। इस तरह यहां घूमने पर आप उनके जीवन को नजदीक से देख पाएंगे।

कुरुव आइलैंड (Kuruva Islands)
कुरुव आइलैंड काबिनी नदी के डेल्टा पर बना है। वयनाड में स्थित यह आइलैंड वन विभाग द्वारा संचालित किया जाता है। पेड़-पौधों और तरह-तरह के फूलों में रुचि रखनेवाले लोगों के लिए यह जगह स्वर्ग से कम नहीं है। इस आइलैंड पर फेरी के जरिए पहुंचा जाता है। इस फेरी का साइज बहुत बड़ा होता है और इसे हाथ से चलाता जाता है।

बाणासुर सागर डैम (Banasura dam)
कल्पेट्ट शहर से करीब 21 किलोमीटर स्थित है बाणासुर सागर बांध। इस बांध का निर्माण काबिनी नदी की सहायक धारा पर किया गया है। इस बांध को भारत का सबसे बड़ा बांध होने और एशिया का दूसरा सबसे बड़ा बांध होने का गौरव प्राप्त है। इस बांध के निर्माण के वक्त बहुत सारी भूमि जलमग्न हो गई थी, जिससे यहां कई छोटे-छोटे द्वीपों का भी निर्माण हुआ है। यहां से बाणासुर पहाड़ियों के मनोरम दृश्य का आप लुत्फ उठा सकते हैं।

मेपड़ी (Meppadi)
केरल के सुंदर हिल स्टेशनों में से एक है मेपड़ी। यह स्थान कोझीकोट और ऊटी को जोड़नेवाले राष्ट्रीय राजमार्ग पर बना है। यह जगह दिल के आकार की झील के लिए काफी प्रसिद्ध है। तो अगर आप अपने पार्टनर के साथ यहां जा रहे हैं तो रोमांटिक सैर तय है।

कल्पेट्टा (Kalpetta)
घने जंगलों, चाय और कॉफी के बागानों से घिरा कल्पेट्ट वयनाड जिले का मुख्यालय है। यहां प्रकृति के मनमोहक नजारे आपको देखने के लिए मिलेंगे। यहां कई प्राकृतिक झरने, झील और जंगल हैं। यहां पर आपको हस्तकला के नायाब नमूने देखने को मिलेंगे। इनमें हाथी दांत से बनी वस्तुएं, बांस और नारियल खोल के सामान मिलेंगे। साथ ही प्राकृतिक शहद का आनंद आप ले सकेंगे।

एडक्कल गुफा (Edakkal Caves)
पाषाण युगीन गुफाओं के बारे में आपने सिर्फ इतिहास की किताबों में पढ़ा होगा। अगर आप उस युग को नजदीक से देखना चाहते हैं और वैसे-से जीवन का अनुभव लेना चाहते हैं तो आपको एडक्कल जरूर आना चाहिए। कल्पेट्ट से लगभग 25 किलोमीट की दूरी पर स्थित इस जगह के बारे में कहा जाता है कि यहां स्थित गुफा को भगवान राम के पुत्रों लव और कुश ने अपने वाणों से बनाया था।

फेंटम रॉक (Phantom Rock)
वयनाड के खूबसूरत पर्यटन स्थलों में एक है फेंटम रॉक। यह चट्टान किसी इंसान की खोपड़ी के आकार में दिखाई देती है। इस चट्टान को देखने पर लगता है कि जैसे किसी ने बड़ी से खोपड़ी पर नक्काशी कर दी हो। इसीलिए इसका नाम फैंटम रॉक पड़ा। ट्रैकिंग और कैंपिंग के लिए यह शानदार जगह है।

पुकुड झील (Pookode Lake)
पुकुड झील को ताजे पानी की झील कहा जाता है। घने जंगल के बीच स्थित इस मनोहर झील में आप परिवार और दोस्तों के साथ बोटिंग का लुत्फ उठा सकते हैं। इस झील के पास ही श्री नारायण आश्रम स्थित है। इस आश्रम का आध्यात्मिक माहौल आपके दिल और दिमाग के साथ चेतना को भी आनंद देगा।

थिरुनेल्ली मंदिर (Thirunelli Temple)
अगर आपको प्राचीन मंदिर और पुरातत्व विज्ञान की जानकारी देनेवाले स्थलों पर घूमना पसंद है तो थिरुनेल्ली मंदिर आपके लिए बेस्ट जगह है। इस मंदिर का इतिहास इतना पुराना माना जाता है कि इसके बरे में कोई साक्ष्य ही उपलब्ध नहीं है। पुरातत्व वैज्ञानिकों को घाटी के बीचोंबीच बसे इस मंदिर के आस-पास गांवों के खंडर तो मिले हैं लेकिन इस मंदिर का निर्माण कब हुआ, किसने किया इसकी कोई जानकारी नहीं है। यह मंदिर भगवान विष्णु को समर्पित है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here