pryagraj
pryagraj

भारत कई अजूबों और रोचक कहानियों का देश रहा है जिनके कारण भारत की संसार में एक अलग पौराणिक देश की छवि बन गई। इस छवि ने विश्व के बाकी देशों को भारत से जोड़े रेखा। यदि कहानियों, लोककथाओं और पौराणिक ग्रंथों में आपकी रूचि है तो आपको इनसे जुड़ी जगहों की यात्रा जरूर करनी चाहिए। हम आपको बता रहे हैं भारत की वे 5 धार्मिक जगह, जहां आपको एक बार जरूर जाना चाहिए…

प्रयागराज (उत्तर प्रदेश)
प्रयागराज एक ऐसी धार्मिक जगह है जो हिंदू पौराणिक कथाओं से भरी हुई है। ऐसा माना जाता है कि संगम (जहां गंगा, यमुना और सरस्वती नदी का मिलन होता है) वह जगह है जहां भगवान राम, माता सीता और लक्ष्मण नदी के पार गए थे। ऐसा भी कहा जाता है कि वनवास के दौरान इन तीनों ने यहां कुछ समय बिताया था।

चित्रकूट
चित्रकूट उत्तर प्रदेश और मध्य प्रदेश के बीच स्थित है। यहां पर कई हिंदू मंदिर हैं। अगर आप हिंदू पौराणिक कथाओं में खो जाना चाहते हैं तो आपको यह प्राचीन महत्व का शहर जरूर घूमना चाहिए। ऐसा माना जाता है कि भरत मिलाप यहीं पर हुआ था। यहीं पर भरत ने भगवान राम से मुलाकात कर उन्हें अयोध्या लौटने का आग्रह किया था।

द्वारका
धर्म के लिहाज से द्वारका एक बहुत प्राचीन शहर है। यह हिंदुओं के चार धामों में से एक है। इसे भगवान कृष्ण की राजधानी माना जाता है और इसका अर्थ स्वर्ग का रास्ता है। कहा जाता है कि भगवान श्री कृष्ण ने अपनी शक्तियों का इस्तेमाल कर समुद्र से 12 एकड़ जमीन लाकर द्वारका को बसाया था।
जम्मू-कश्मीर में स्थित हैं ये प्रसिद्ध हिंदू मंदिर, जानें

हरिद्वार

हरिद्वार अब एक घूमने का स्थान बन चुका है। इसका भी भारत के पौराणिक ग्रंथों में खास स्थान है। यहां गंगा नदी हिमालय से निकलने के बाद पहली बार धरती को छूती है। इस शहर की कई अनसुनी कहानियां भी हैं। यहां पर भगवान शिव की पहली पत्नी सती माता का ‘दक्ष महादेव मंदिर’ भी स्थित है। इस मंदिर में शाम को होने वाली आरती बहुत प्रसिद्ध है।

देवप्रयाग
हिंदू धर्म को मानने वालों के लिए यह भी एक महत्वपूर्ण धार्मिक जगह है। यहां अलकनंदा नदी, भागीरथी नदी में मिलती है और गंगा नदी बनती है। कोई अगर शांत मन से ध्यान मग्न होकर हिंदू धर्म को करीब से महसूस करना चाहता है तो यहां स्थित दो पुस्तकालयों में जा सकता है। इन पुस्तकालयों में प्रमुखत: हिंदी और गढ़वाली भाषा में लिखी पुरानी किताबें और ग्रंथ मिल जाएंगे। यह ऋषिकेश से 141 किलोमीटर की दूरी पर है।

SOURCEhttps://navbharattimes.indiatimes.com
Previous articleHoli 2019 Long Weekend : इन 7 में से कोई शहर चुनें और हो जाएं उत्सव में शामिल
Next articleइंडिया के इन 4 बायोस्फियर रिजर्व में छिपा है कुदरत का अनोखा का खजाना

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here