vadodara

अगर आप किसी ऐसी जगह पर घूमने का प्लान बना रहे हैं जहां आपको रॉयल महल भी देखने को मिल, तीर्थ स्थान भी हो और प्राकृतिक खूबसूरती का भी समावेश हो तो आप गुजरात के वडोदरा जा सकते हैं जहां आपको ये सारी चीजें एक ही जगह पर देखने को मिल जाएंगी।

अहमदाबाद और सूरत के अलावा गुजरात में कई और जगहें भी हैं जहां आप छुट्टियां बिताने के लिए जा सकते हैं। उन्हीं में से एक शहर वडोदरा या बड़ौदा भी है और अगर आप पहले कभी वहां नहीं गए हैं जो यह एक ऐसी जगह है जहां हॉलिडे का प्लान आपको जरूर बनाना चाहिए। यह एक पुराना, हेरिटेज शहर है लेकिन यहां आपको सभी मॉर्डन और आधुनिक सुविधाएं मिल जाएंगी। ऐसे में आप चाहें तो अपने अगले वकेशन के तौर पर वडोदरा को चुन सकते हैं। वडोदरा जाएं तो किन जगहों पर घूमना है यह हम आपको बता रहे हैं…

हथिनी माता वॉटरफॉल्स
अगर आप नेचर लवर हैं और प्राकृतिक खूबसूरती देखना चाहते हैं तो इस जगह पर जरूर जाएं। चारों तरफ से हरे-भरे पहाड़ों से घिरे इस वॉटर फॉल के पास जाकर आपको जन्नत जैसा महसूस होगा। इस वॉटरफॉल के बगल में स्थित एक गुफा में हथिनि माता का मंदिर है जिस वजह से इस वॉटरफॉल का नाम भी मंदिर के नाम पर पड़ गया।

सूर्य मंदिर
वडोदरा से महज 37 किलोमीटर दूर बोरसाद शहर में सूर्य देव को समर्पित सूर्य मंदिर है। अगर मंदिर देखने में आपकी दिलचस्पी हो तो आप वडोदरा जाकर सूर्य मंदिर के दर्शन कर सकते हैं। वैदिक काल से ही सूर्य की उपासना की जा रही है। सिर्फ देश ही नहीं बल्कि दुनियाभर से श्रद्धालु इस सूर्य मंदिर में पूजा-अर्चना करते आते हैं।

सायाजी गार्डन
45 हेक्टेयर इलाके में फैले इस खूबसूरत गार्डन का नाम मशहूर राजा महाराज सायाजीराव गायकवाड़ तृतीय के नाम पर है। यह गार्डन पश्चिमी भारत के सबसे बड़े गार्डन में से एक है। इस गार्डन का निर्माण 1879 में विश्वामित्री नदी के किनारे हुआ था जिसमें आपको एक से बढ़कर पेड़ पौधे देखने को मिलेंगे। इसके अलावा इस पार्क में 2 म्यूजियम, एक प्लैनेटेरियम, एक जू, फ्लावर क्लॉक और बच्चों के लिए टॉय ट्रेन की व्यवस्था भी है। लोकल लोगों के साथ ही टूरिस्ट भी यहां बड़ी संख्या में आते हैं।

म्यूजिमय-पिक्चर गैलरी
वडोदरा का म्यूजियम और पिक्चर गैलरी भी काफी फेमस है जिसका निर्माण गायकवाड़ों ने 1894 में करवाया था। महाराजा सायाजीराव तृतीय के कुछ रेयर कलेक्शन्स भी आपको यहां देखने को मिल जाएंगे। यहां आपको मुगलों के समय के 109 मिनिएचर पेंटिंग्स भी दिखेंगी। इसके अलावा महाभारत का पर्शियन वर्जन और 11वीं शताब्दी के शिव नटराज की मूर्ति भी।

लक्ष्मी विलास पैलेस
वडोदरा जाएं और लक्ष्मी विलास पैलेस न देखें तो आपकी ट्रिप अधूरी रह जाएगी। कहते हैं कि ब्रिटेन के वर्ल्ड फेमस बकिंगम पैलेस से 4 गुना बड़ा है यह लक्ष्मी विलास पैलेस जो 700 एकड़ के एरिया में फैला हुआ है। वडोदरा के शाही परिवार के लोग यानी गायकवाड़ अब भी इसी महल में रहते हैं। टूरिस्ट्स चाहें तो इस पैलेस की सैर कर सकते हैं और इसकी खासियत यह है कि टिकट के दाम में ही आपको फ्री ड्रिंग और स्नैक्स भी मिल जाएंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here