Bharat Darshan Package
Bharat Darshan Package

भारतीय रेलवे के कैटरिंग ऐंड टूरिज़म विभाग की भोपाल विंग अपने यात्रियों के लिए भारत दर्शन के तहत एक खास टूर पैकेज लेकर आई है। यह टूर भारत दर्शन स्पेशल टूरिस्ट ट्रेन द्वारा किया जाएगा और इस दौरान देश के तमाम महत्वपूर्ण धार्मिक और टूरिस्ट डेस्टिनेशंस कवर किए जाएंगे। IRCTC का यह बेहद किफायती टूर पैकेज है। irctctourism.com पर दी गई जानकारी के आधार पर यात्री इस पैकेज के तहत रामेश्वरम, मदुरै, कन्याकुमारी और त्रिवेंद्रम के धार्मिक स्थलों और पर्यटन क्षेत्रों की सैर कर सकेंगे। यह टूर 7 जुलाई 2019 को शुरू होगा और 16 जुलाई 2019 तक जारी रहेगा।

टूर पैकेज का नाम ‘DAKSHIN BHARAT YATRA WZBD260′ है। पैकेज टैरिफ स्टैंडर्ड और कंफर्ट कटिगरी में लिया जा सकता है। स्टैंडर्ड कटिगरी में प्रति व्यक्ति (जीएसटी सहित) स्लीपर क्लास ट्रेन के लिए प्रतिव्यक्ति 9,450 रुपए का शुल्क देना होगा जबकि कंफर्ट कटिगरी में थर्ड एसी कोच के लिए प्रति व्यक्ति (जीएसटी सहित) के हिसाब से प्रतिव्यक्ति 11,550 रुपए का शुल्क देना होगा। इस ट्रिप के दौरान यात्री रामेश्वरम, मदुरै, कन्याकुमारी, त्रिवेंद्रम और मल्लिकार्जुन जैसे डेस्टिनेशन कवर करते हुए यात्रा करेंगे। इस टूर के लिए बोर्डिंग पॉइंट रीवा, सतना, मैहर, कटनी, जबलपुर, नरसिंहपुर, पिपरिया, इटारसी, बैतूल, अमला, पंढुरना और नागपुर होंगे।

टूर का नाम और जानकारी
दक्षिण भारत यात्रा पैकेज के दौरान यात्री ट्रेन द्वारा यात्रा के माध्यम से डेस्टिनेशन कवर करेंगे, जो रीवा से SL क्लास / 3AC कोच में यात्रियों को लेकर जाएगी। ट्रेन सुबह 9:30 बजे प्रस्थान करेगी। यात्रा के दौरान ट्रेन में नाश्ता, दोपहर का भोजन और रात का खाना शामिल है। अगर आप इस टूर का हिस्सा बनना चाहते हैं तो आईआरसीटीसी के वेबसाइट के माध्यम से अपने लिए टूर बुक कर सकते हैं। इस टूर के बारे में अधिक जानकारी के लिए यहां क्लिक करें। इस टूर का पैकेज कोड WZBD260 है।

दक्षिण भारत यात्रा पैकेज के तहत IRCTC ‘भारत दर्शन स्पेशल टूरिस्ट ट्रेन’ के माध्यम से दिए जा रहे इस टूर पैकेज में कई सुविधाएं अपने यात्रियों को दे रहा है, जो इस प्रकार हैं…

  • यात्रा के दौरान रात में हॉल या डॉर्मेट्री में ठहरने और सुबह में फ्रेश होने के लिए जरूरी सुविधाएं।
  • यात्रा के दौरान शुद्ध शाकाहारी भोजन। इसमें सुबह की चाय और प्रतिदिन पीने के लिए शुद्ध जल भी शामिल है।
  • दर्शनीय स्थलों की यात्रा के लिए पर्यटक बसें। ये बसे नॉन एसी होंगी।
  • घोषणाओं और सूचनाओं के लिए टूर एस्कॉर्ट्स, जो यात्रा के दौरान टूरिस्ट्स का ध्यान रखेंगे|
  • प्रत्येक कोच (बिना हथियारों के) के लिए सुरक्षा व्यवस्था।
  • ट्रेन अधीक्षक के रूप में ट्रेन में एक आईआरसीटीसी अधिकारी की तैनाती।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here