cave_adventure_in_meghalaya
cave_adventure_in_meghalaya

एडवेंचर ट्रिप महज लाइफ में एक एक्सपीरियंस जोड़ने का ही काम नहीं करता बल्कि ये आपके अंदर के डर को दूर करके कॉन्फिडेंस बूस्ट करने का भी काम करता है। ट्रैवलिंग बहुत ही बेहतरीन जरिया होता है खुद को जानने का। इसलिए सोलो ट्रिप के साथ-साथ एडवेंचरस ट्रिप का भी एक बार एक्सपीरियंस जरूर लें।

ऋषिकेश, गोवा, अंडमान से अलग नार्थ-ईस्ट का मेघालय शहर भी एडवेंचर एक्टिविटीज के लिए बहुत मशहूर है। जहां आकर आप ट्रैकिंग से लेकर कयाकिंग, जिपलाइनिंग और स्कूवा डाइविंग जैसी कई एक्टिविटीज को एन्जॉय कर सकते हैं। जानेंगे इनके बारे में…

केविंग
गुफाओं की सैर के लिए मेघालय, इंडिया के बेस्ट डेस्टिनेशन्स में से एक है। यहां लगभग 1700 गुफाएं हैं जिनमें कुछ चूना तो कुछ रेतीले पत्थरों से बनी हुई हैं। ज्यादातर गुफाएं पूर्वी खासी हिल्स, दक्षिणी गारो हिल्स और जेन्तिया हिल्स पर हैं। हर एक गुफा की सैर खास होती है। कुदरत की बनी हुई इन गुफाओं की सैर जितनी एडवेंचरस होती है उनके बारे में जानना उतना ही मज़ेदार।
सही समय- गुफाओं को एक्सप्लोर करने के लिए भी नवंबर से मार्च तक का महीना है बेस्ट। जिसमें गुफाओं के अंदर गर्मी और घुटन का एहसास नहीं होता।

ट्रैकिंग
नेचर ट्रैकिंग से लेकर, घने जंगलों की सैर और लिविंग रूट ब्रिज को देखने के लिए मेघालय है परफेक्ट डेस्टिनेशन। जो भारत में ही नहीं देश-विदेश में भी मशहूर है। यहां ट्रैकिंग का अनोखा एक्सपीरिएंस देने वाला रास्ता काफी चैलेजिंग है लेकिन इसे अकेले भी किया जा सकता है। वैसे इसके लिए यहां गाइड भी मौजूद रहते हैं।
सही समय- नवंबर से फरवरी के बीच का समय यहां ट्रैकिंग के लिए बेस्ट होता है।

स्कूवा-डाइविंग
स्कूवा-डाइविंग…वो भी मेघालय में? सुनकर आश्चर्य हो रहा है ना क्योंकि यहां तो कोई समुद्र भी नहीं। तो आपको बता दें मेघायल में स्कूवा का मजा नदी में ले सकते हैं। दावकी के उंमगोट नदी है स्कूवा-डाइविंग के लिए परफेक्ट जगह। अगर आप पहली बार स्कूवा कर रहे हैं तो 10 मीटर तक जा सकते हैं।
सही समय- मेघालय में स्कूवा-डाइविंग को आप साल में कभी भी आकर ट्राय कर सकते हैं। लेकिन बेहतर होगा मानसून में अवॉयड करें।

कयाकिंग
मेघालय आकर आप कयाकिंग एडवेंचर का लुत्फ भी उठा सकते हैं। नदी की तेज लहरों के बीच नाव को चलाने के थ्रिल का अंदाजा आप लगा सकते हैं। इसके अलावा यहां स्विमिंग करने का भी ऑप्शन है आपके पास।
सही समय- नवंबर से फरवरी का महीना कयाकिंग एक्टिविटी के लिए है बेस्ट। इंडिपेंडेट एक्टिविटी होने की वजह से ज्यादातर लोग इसे करने से कतराते हैं। लेकिन अगर आपने पहले किया हुआ है तो यहां इसे जरूर ट्राय करें।

ज़िप लाइनिंग
मेघालय शहर की खूबसूरती को एक्सप्लोर करने के लिए यहां ज़िपलाइनिंग एक्टिविटी भी मौजूद है। 2600 फीट लंबी और 1200 फीट ऊंची ज़िपलाइनिंग में शहर का अनोखा ही नज़ारा देखने को मिलता है।
सही समय- इस एक्टिविटी का मज़ा आप पूरे साल ले सकते हैं।

SOURCEhttps://navbharattimes.indiatimes.com
Previous articleSolo Trip पर जाना है, Himachal Pradesh का Prashar lake है Best Option
Next articleइन खूबसूरत location पर हुई ‘Kedarnath’ की शूटिंग, घूमने को करेगा दिल

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here