film
film

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 19 जनवरी शनिवार को दक्षिणी मुंबई स्थित ‘नैशनल म्यूजियम ऑफ इंडियन सिनेमा’ (NMIC) देश को समर्पित किया। यह म्यूजियम दक्षिणी दिल्ली में स्थित है। यह म्यूजियम चार सालों में बनकर तैयार हुआ है। इसकी लागत करीब 140.61 करोड़ रुपये बताई जा रही है। श्याम बेनेगल की अध्यक्षता में और संग्रहालय सलाहकार समिति के मार्गदर्शन में इस ‘नैशनल म्यूजियम ऑफ इंडियन सिनेमा’ को तैयार किया गया है।

पीएम मोदी ने जब अपनी बात शुरू कि तो फिल्म का खुद भी फिल्म के डायलॉग का प्रयोग किया। उन्होंने अपने वक्तव्य की शुरुआत में ही फिल्म URI का डायलॉग How’s the जोश? बोला तो उन्हों वहां उपस्थित श्रोताओं ने जवाब भी वैसा ही दिया High Sir!म्यूजियम का बारीकी से निरीक्षण किया और उपस्थित लोगों और खास मेहमानों से बहुत ही उत्साह और जोश से बात की।

खूबियां
नैशनल म्यूजियम ऑफ इंडियन सिनेमा में हर दौर की फिल्मों का संग्रह मिलेगा। साथ ही यहां बच्चों के मनोरंजन के लिए भी फिल्मों का पूरा खजाना मिलेगा। इस म्यूजियम में आने के साथ ही दर्शक जान सकेंगे कि हमारे बॉलिवुड ने किस तरह अपना सफर तय किया। आज किस तरह की तकीनक का प्रयोग हम फिल्मों के निर्माण में कर रहे हैं।

गौरव गाथा
नैशनल म्यूजियम ऑफ इंडियन सिनेमा बॉलिवुड फिल्मों के सफर को सहेजकर रखेगा। ताकि आनेवाली पीढ़ियां अपने पूर्वजों के संघर्ष, रचनात्मकता, सोच और कला को जान-समझ सकें।

कैसे पहुंचें?
नैशनल म्यूजियम ऑफ इंडियन सिनेमा सपनों की दुनियां मुंबई में स्थित है। यहां पहुंचने के लिए आपको गुलशन महल, 24, पेडर रोड, कुंबाला हिल मुंबई आना होगा। यहां का पिनकोड 400026 है। यहां घूमने के लिए टिकट की व्यवस्था है। भारतीय नागरिकों के लिए टिकट की रकम 20 रुपए प्रति व्यक्ति निर्धारित की गई है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here