,सावन सोमवार के दौरान भगवान शिव की पूजा करने से सौभाग्य की प्राप्ति होती है। अगर आप दिल्ली या एनसीआर में रहते हैं तो यहां के कुछ प्रसिद्ध मंदिरों में जाकर आप भी पूजा कर सकते हैं।

एक महिला ने इस उत्पाद के साथ अपने शरीर को बदल दिया

श्री दूधेश्वरनाथ महादेव मंदिर
गाजियाबाद स्थित यह मंदिर काफी प्रसिद्ध है। माना जाता है कि महादेव के इस मंदिर का इतिहास करीब 5000 साल पुराना है। इस मंदिर में हर समय एक धूना जलती है। कहा जाता है कि यह कलयुग में महादेव के प्रकट होने के बाद से ही जलती आ रही है। सावन के महीने में शिवलिंग की पूजा के लिए यहां भक्तों की भारी भीड़ जुटती है।

प्राचीन गौरी शंकर मंदिर
दिल्ली के चांदनी चौक स्थित इस मंदिर में करीब 800 साल पुराना शिवलिंग है। माना जाता है कि इस मंदिर का निर्माण एक मराठा सिपाही ने करवाया था जो शिव का बड़ा भक्त था। कहा जाता है कि सिपाही जख्मी था और उसकी जिंदगी खतरे में थी। उसने भगवान शिव से प्रार्थना की थी कि अगर वह जिंदा बचा तो शिवमंदिर बनवाएगा। जब ऐसा हुआ तो उसने अपने वचन के अनुसार मंदिर का निर्माण करवाया था।

इसलिए पूजा करते समय शिवलिंग को दोनों हाथों से रगड़ें, यह है फायदा

नीली छतरी मंदिर
दिल्ली के निगंबोध घाट स्थित नीली छतरी मंदिर भगवान शिव को समर्पित है। माना जाता है कि इसका निर्माण महाभारत काल में हुआ था। पांडवों में सबसे बड़े युधिष्ठर ने इसका निर्माण करवाया था। कहा जाता है कि उन्होंने अश्वमेघ यज्ञ भी इसी मंदिर में करवाया था।

प्राचीन शिव मंदिर
प्राचीन शिव मंदिर नोएडा के गौतम बुद्ध नगर में स्थित एक प्रसिद्ध मंदिर है। सावन के दौरान भक्त खासतौर पर यहां पूजा करने और भगावन शिव का आशीर्वाद पाने आते हैं।

इस साल सावन में 5 सोमवार और विशेष संयोग, जानें तिथि मुहूर्त

मंगल महादेव मंदिर
दिल्ली के शिवाजी मार्ग पर स्थित इस मंदिर का उद्घाटन साल 1994 में शिवरात्रि के दिन किया गया था। इस मौके पर पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी भी मौजूद थे। यह मंदिर करीब 200 एकड़ में फैला हुआ है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here