chhatissgarh
chhatissgarh

Chhattisgarh मध्य प्रदेश से अलग हुआ हमारे देश का एक खूबसूरत राज्य है, जो कि प्राकृतिक संपदाओं से भरपूर है। यह प्रदेश ऊंची नीची पर्वत श्रेणियों से घिरा हुआ घने जंगलों वाला राज्य है। यहां के वनों में कई प्रकार के पेड़- और जड़ी बूटियां पाई जाती हैं। अगर पर्यटन की बात करें तो छत्तीसगढ़ एक खूबसूरत टूरिस्ट डेस्टिनेशन है। यहां हर साल हजारों की संख्या में केवल इंडिया से ही नहीं बल्कि पूरी दुनिया से टूरिस्ट आते हैं। इस राज्य में एतिहासिक इमारतों, वाइल्ड लाइफ, वॉटरफॉल्स और चट्टानों की भरमार है। अगर आप भी छत्तीसगढ़ जाने का प्लान बना रहे हैं तो इन जगहों पर जाना न भूलें।

गंगरेल बांध
Chhattisgarh के धमतरी जिले में महानदी पर बना गंगरेल बांध एक मशहूर टूरिस्ट स्पॉट है, जो कि धमतरी से 15 किमी. और रायपुर से 90 किमी. की दूरी पर स्थित है। यहां कई वॉटर स्पोर्ट्स होते हैं। यहां का वर्जिन आईलैंड भी फेमस है। इसे रविशंकर बांध के नाम से भी जाना जाता है। मॉनसून के समय यहां टूरिस्ट्स का आना काफी बढ़ जाता है। आप यहां फ्लाइट, ट्रेन या रोड से भी जा सकते हैं। रायपुर एयरपोर्ट यहां का सबसे नजदीकी एयरपोर्ट है। रायपुर रेलवे स्टेशन यहां से सबसे करीब है। अगर आप बस से गंगरेल बांध जाना चाहते हैं तो इसकी भी सुविधा उपलब्ध है।

सिरपुर
सिरपुर अपने पारंपरिक सांस्कृतिक विरासत और आर्किटेक्चर के लिए जाना जाता है। सिरपुर के बुद्ध विहार नालंदा से भी ज्यादा पुराने हैं। सिरपुर की पौराणिक मान्यता भी है। यहां की वाइल्ड लाइफ सेंचुरी टूरिस्ट्स के आकर्षण का मुख्य केन्द्र है। छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर से सिरपुर की दूरी 84 किमी. है। यहां कई छोटे-छोटे गांव भी हैं जिन्होंने अपनी अलग ही दुनिया बसा रखी है, आप यहां आकर खुद को प्रकृति के बेहद करीब महसूस करेंगे। अगर आप फ्लाइट से सिरपुर आना चाहते हैं तो हम आपको बता दें कि सबसे करीबी एयरपोर्ट रायपुर एयरपोर्ट है, यहां से मुंबई, दिल्ली, नागपुर,भुवनेश्वर, कोलकाता, रांची, विशाखापट्टनम और चेन्नई की डायरेक्ट फ्लाईट मिलती हैं। इसके आलावा ट्रेन और बस की भी सेवा आसानी से उपलब्ध है।

चित्रकोट वॉटरफॉल
चित्रकोट वॉटरफॉल को भारत को छोटा नियाग्रा फॉल भी कहा जाता है। चित्रकोट वॉटरफॉल पूरे इंडिया में काफी मशहूर है और जो भी पर्यटक Chhattisgarh देखने आते हैं, वे बिना इसे देखे नही जाते । यह खूबसूरत वॉटरफॉल इंद्रावती नदी पर बस्तर के जगदलपुर से 38 किमी. की दूरी पर स्थित है। यह 95 फीट ऊंचा है। घोड़े के आकार का यह वॉटरफॉल जुलाई से अक्टूबर के बीच मॉनसून के समय काफी खूबसूरत और भव्य लगता है। इस खूबसूरती को आप अपने कैमरे में कैद करके एक रोमांचक याद के तौर पर रख सकते हैं। रायपुर एयरपोर्ट से चित्रकोट वॉटरफॉल 284 किमी. दूर है।

भोरमदेव टेंपल
भोरमदेव टेंपल को Chhattisgarh के खजुराहो के तौर पर भी जाना जाता है। भगवान शंकर के इस प्राचीन मंदिर में चट्टानों को तराशकर खूबसूरत नक्काशियां बनाई गई हैं। कबीरधाम जिले में ये मंदिर पहाड़ों के बीच स्थित है और इसे 7वीं से 11वीं सदी के बीच बनाया गया था। इस मंदिर की तुलना खजूराहो के साथ-साथ कोणार्क के सूर्य मंदिर से भी की जाती है। यहां हर साल हजारों की संख्या में टूरिस्ट आते हैं और इसकी स्थापत्य कला को देखकर दंग रह जाते हैं।

कांगेर वैली नैशनल पार्क
खूबसूरत और विशाल पहाड़ों ,घने जंगल, बड़े पेड़ों और खूबसूरत फूलों का ये मनमोहक माहौल वन्यजीवों के लिए परफेक्ट है। कंगेर वैली नैशनल पार्क में कई वन्यजीवों का हर तरह की प्रजातियां पाई जाती है। यहां सालभर भारी संख्या में पर्यटकों की आावजाही लगी रहती है।

SOURCEhttps://navbharattimes.indiatimes.com/
Previous articleसर्दी में कम बजट में मनाना है Holiday, तो ये जगह हैं Best
Next articleChristmas के लॉन्ग वीकेंड के दौरान करें इन जगहों की सैर

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here