Achleswer Mahadev Temple

यूं तो पूरे भारत में ऐसे कई मंदिर हैं जिनकी स्‍थापना या फिर मंदिर में स्‍थापित मूर्तियों को लेकर कई रोचक तथ्‍य प्रचलित हैं। लेकिन राजस्‍थान में एक ऐसा मंदिर है, जिसके बारे में जानकर आप हैरान रह जाएंगे। तो अगर इस बार धार्मिक ट्रिप पर जाने के लिए किसी ऐसी ही जगह की तलाश में हैं तो आपको राजस्‍थान के ‘अचलेश्‍वर महादेव’ के दर्शन करने चाहिए। इस मंदिर में स्‍थापित शिवलिंग अपना रंग बदलता रहता है। यही वजह है कि देश ही नहीं विदेश से भी लोग यहां पर मत्‍था टेकने आते हैं।

तीन रंगों वाला है शिवलिंग
राजस्‍थान के धौलपुर जिले में स्‍थापित ‘अचलेश्‍वर महादेव’ मंदिर को लेकर विद्वान बताते हैं कि यह शिवलिंग दिन में तीन बार रंग बदलता है। सुबह के समय यह शिवलिंग लाल रंग का दिखाई देता है। वहीं दोपहर में यह केसरिया रंग का हो जाता है और रात को यह श्‍याम रंग में दिखाई देता है।

नहीं मिला शिवलिंग का छोर
स्‍थानीय लोग बताते हैं कि शिवलिंग के रंग बदलने की बात को समझने के लिए कई बार मंदिर के पास खुदाई भी की गई लेकिन काफी नीचे तक खोदने के बाद भी शिवलिंग का कोई अंत नहीं मिला। परेशान होकर लोगों ने इसे भोलेनाथ की कृपा मानकर खुदाई बंद कर दी।

नहीं समझ सके रहस्‍य
‘अचलेश्‍वर महादेव’ मंदिर के शिवलिंग का रंग बदलने के पीछे क्‍या पहेली है? इसे समझने के लिए पुरातत्‍व विभाग के लोगों ने भी काफी कोशिशें कीं। लेकिन जब कोई भी सुराग हाथ नहीं लगा तो सभी ने इसे ईश्‍वर का ही चमत्‍कार मान लिया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here