Vaishno Devi-Bhairon Ghati
Vaishno Devi-Bhairon Ghati

Vaishno Devi-Bhairo मंदिर की यात्रा Ropeway से
माता वैष्णो देवी की यात्रा पर जाने वाले श्रद्धालुओं के लिए एक अच्छी खबर है। माता वैष्णो देवी मंदिर से भैरो घाटी स्थित भैरो मंदिर जाने वाले भक्तों के लिए नई रोपवे सेवा आज से शुरू हो गई है जिससे उनकी यात्रा काफी आसान हो जाएगी। जम्मू-कश्मीर के राज्यपाल सत्यपाल मलिक जो श्री माता वैष्णो देवी श्राइन बोर्ड के चेयरमैन भी हैं, वैष्णो देवी से भैरो घाटी के बीच शुरू हो रही रोपवे सेवा की आज औपचारिक शुरुआत करेंगे।

Bhairo घाटी की 6,600 फीट की खड़ी चढ़ाई
ऐसी धार्मिक मान्यता है कि वैष्णो देवी आने वाले श्रद्धालुओं की यात्रा तब तक पूरी नहीं मानी जाती जब तक श्रद्धालु भैरो घाटी जाकर भैरो मंदिर के दर्शन न कर लें। लेकिन वैष्णो देवी मंदिर में दर्शन करने के बाद अक्सर श्रद्धालु इतने थक जाते हैं कि वे भैरों घाटी की 6 हजार 600 फीट की खड़ी चढ़ाई नहीं कर पाते और बिना दर्शन किए ही वापस चले जाते हैं। वैसे तो वैष्णो देवी से भैरो घाटी की दूरी सिर्फ 3.5 किलोमीटर है लेकिन चढ़ाई अधिक है।

एक तरफ का किराया सिर्फ 100 रुपये
ऐसे में रोपवे की सुविधा शुरू होने से 3.5 किलोमीटर का यह ट्रेक सिर्फ 3 मिनट में पूरा कर लिया जाएगा। रोपवे के टिकट की बात करें तो एक तरफ से टिकट की कीमत 100 रुपये प्रति व्यक्ति है। साथ ही इस केबल कार में एक बारे में 40 से 45 यात्री अपने सामान के साथ सफर कर सकते हैं। वैष्णो देवी मंदिर जाने वाले यात्री भले ही रात के वक्त भी यात्रा करते हों लेकिन रोपवे की यह सुविधा सिर्फ दिन के वक्त ही मिल पाएगी। साथ ही हर दिन करीब 3 से 4 हजार श्रद्धालु माता वैष्णो देवी के भवन से भैरों घाटी की यात्रा कर सकेंगे। इस रोपवे के लिए भवन में अलग टिकट काउंटर भी बनाया गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here