Tajmahal
Tajmahal

दुनियाभर में अपनी पहचान रखता है आगरा। कारण है आगरा का ताजमहल। यह दुनिया के 8 अजूबों में शामिल है। पूरी तरह सफेद संगमरमर से बनी यह इमारत किसी के लिए मोहब्बत की निशानी है तो किसी के लिए तेजोमहालय, भगवान शिव को समर्पित मंदिर। हम विवाद की बात नहीं करेंगे। सिर्फ मोहब्बत और आस्था ही इस जगह की पहचान है। नजरिया आपका अपना होगा और खूबसूरती ताजमहल की। फिर चाहे, जिस नजर से आप इसे देख लें। मॉनसून के 4 महीनों में से कोई एक वीकेंड आगरा के नाम जरूर करिए। इंजॉय करेंगे आप…

ताजमहल और तेजोमहल
ताजमहल के दर्शन के लिए जैसे ही चारदीवरी के गेट से आप अंदर एंट्री करते हैं, सामने एक शानदार इमारत नजर आती है। चमकता हुआ सफेद पत्थर से बना ताजमहल। अब तक गर्मी का मौसम था, गर्मी के सीजन में ताजमहल भी आगमहल की तरह महसूस होता है लेकिन अब रिमझिम बरसात में आप इस इमारत के दीदार करेंगे तो रोमांच कई गुना बढ़ जाएगा। इसके कई आंगनों से आप ताजमहल के पीछे की तरफ शांति से बहती यमुना नदी को निहार सकते हैं।

आगरा का किला
लाल किला सिर्फ दिल्ली में ही नहीं है। आगरा में भी एक किला है, जिसे आगरा का लाल किला या आगरा फोर्ट के नाम से जाना जाता है। यह किला मुगल वास्तुकला और स्थापत्य का शानदार उदाहरण है। यहा किला लाल बलुआ पत्थर से बना है। यह भी यमुना नदी के किनारे पर बना है। इतिहास के अनुसार, इस किले का निर्माण 15वीं शताब्दी के मध्य में अकबर ने कराया था। इस किले में कुछ काम सफेद मार्बल से भी कराया गया है, जो अकबर के पोते के द्वारा कराया गया बताया जाता है। इस किले के अंदर कई महल हैं, जो मुगलकाल के रानी, राजाओं के नाम पर हैं।

मेहताब बाग में फोटो सेशन
परिवार और दोस्तों के साथ कुछ देर आराम से बैठना चाहते हैं तो आप मेहताब बाग जा सकते हैं। यह ताजमहल के अपोजिट साइड में बना हुआ, बेहद शानदार चारबाग है। इस गार्डन में फटॉग्रफी के लिए एक से बढ़कर एक सीनरिक व्यू हैं। यह गार्डन सैलानियों के लिए सुबह से लेकर शाम तक खुला रहता है।

NBT

खरीदारी के लिए यहां जाएं
अगर आगरा से कुछ यादगार लाना चाहते हैं तो बेशक ताजमहल के पास आपको कई तरह के हैंडीक्राफ्ट और शोपीस देखने के मिले होंगे। लेकिन अगर आप असली आगरा देखते हुए यहां के बाजार को नजदीक से जानना चाहते हैं तो आगरा के किनारी बाजार का रुख करें। यह बाजार जामा मस्जिद के पीछे की तरफ तंग गलियों में बसा है। यह प्राचीन आगरा का बाजार है। आप उस काल की बसावट को यहां महसूस कर सकते हैं।

इतिमाद-उद-दौला का मकबरा
इस मकबरे को मिनी ताज भी कहा जाता है। यह मुगल काल की बाकी इमारतों की तरह लाल पत्थर से नहीं बना है बल्कि सफेद संगमरमर से बना है। कुछ लोग इसे बेबी ताज कहते हुए दावा करते हैं कि ताजमहल के निर्माण से पहले इस मकबरे को बनाकर कल्पना की गई थी कि ताज कैसा बनेगा। खैर, आप तो इसकी खूबसूरती को निहारिए, सैर करिए, फोटो खिंचवाइए और अपने पूर्वजों के हुनर पर गर्व कीजिए।

वाइल्ड लाइफ और विलेज टूरिज़म
अगर आपको वाइल्ड लाइफ इंजॉय करनी है तो आप Wildlife SOS जा सकते हैं। यहां आप भालू का नृत्य, हाथी के साथ मस्ती लैपर्ड को निहारने का सुख ले सकते हैं। वहीं अगर आप विलेज टूरिज़म का लुत्फ लेना चाहते हैं तो आगरा फतेहपुर सीकरी मार्ग पर बसे Korai Village जाएं। यहां लोग आज भी मिट्टी से बनी कुटिया में रहते हैं और अपनी कुटियाओं की खूबियों के चलते ही इस गांव में विलेज टूरिज़म बढ़ रहा है। विदेशी सैलानी यहां बड़ी संख्या में आते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here