Delicious Foods of Prayagraj

धार्मिक हो या सांस्कृतिक, प्रयागराज के सफर को मज़ेदार बनाने का काम करते हैं यहां के मशहूर और लजीज़ ज़ायके। सुबह होते ही दुकानों पर कचौड़ी-सब्जी बनने का सिलसिला शाम को इमरती और चाट पर ही खत्म होता है। नमकीन से लेकर मीठे तक स्नैक्स की ढेरों वैराइटी यहां मौजूद है जो पूरी तरह से आप पर निर्भर करता है कि खाना क्या है। पूर्वांचल के खानपान में जो अलग बात नज़र आती है वो ये कि यहां मसालों को भरपूर इस्तेमाल किया जाता है। यहां सेहत से ज्यादा स्वाद को वरीयता दी जाती है। तो बेझिझक और बेफ्रिक होकर यहां की छोटी-बड़ी दुकानों पर मिलने वाले खानपान का मज़ा लें। जानेंगे इनमें से भी सबसे खास क्या है।

कचौड़ी सब्जी

प्रयागराज में ही नहीं उत्तर प्रदेश के ज्यादातर शहरों में आप सुबह-सुबह कचौड़ी-सब्जी का स्वाद ले सकते हैं। ये यहां का पसंदीदा नाश्ता है जिसे खाने वालों में स्थानीय लोगों की भीड़ ज्यादा नज़र आती है। उड़द दल कचौड़ी को आलू-टमाटर और मसालों से बनने वाली सब्जी के साथ लोग चटकारे ले लेकर खाते हैं। कटरा का नेतराम शहर भर में मशहूर है कचौड़ी-सब्जी के लिए।

चुरमुरा
बहुत तेज़ी से भूख लगी हो या कुछ लाइट खाने का मूड हो, चुरमुरा दोनों के ही लिए है बेस्ट ऑप्शन। यहां लोग इसे स्नैक्स के तौर पर खाना पसंद करते हैं। लईया/मूरी/मुरमुरा, मसाले, मूंगफली, सेव, हरी मिर्च, टमाटर, प्याज और ऊपर से नींबू का रस, इस स्नैक्स को बनते देखकर ही मुंह में पानी आने लगता है और खाने में उतना ही लाजवाब होता है। अपने पसंद और स्वाद के अनुसार आप चीज़ें घटा-बढ़ा भी सकते हैं। प्रयागराज के सिविल लाइन्स में प्लेट भर कर चुरमुरे खा सकते हैं।

चाट
चाट, यहां के खानपान का खास हिस्सा है। शाम होते ही यहां के ठेले पानी-पुरी, टिक्की-चाट से सज जाते हैं और इसे खाने वालों की लंबी कतार। उबली मटर, चिवड़े, प्याज़, टमाटर, मूंगफली, मसाले और नींबू के साथ तैयार किए जाने वाले चाट को खाने के बाद हर कोई इसका दिवाना हो जाता है। वैसे तो यहां थोड़ी-थोड़ी दूर पर आपको चाट के ठेले नज़र आ जाएंगे लेकिन घंटाघर के नज़दीक लोकनाथ चाटवाला शहर भर में मशहूर है। यहां एक या दो नहीं बल्कि कई वैराइटी के चाट मेन्यू में देखने को मिलते है और हर एक चाट स्पेशल होता है। सौंठ की चाट और दही-बताशे की डिमांड सबसे ज्यादा होती है।

इमरती
इमरती देखने में ही नहीं स्वाद में भी जलेबी से काफी अलग होती है लेकिन फिर भी इसे जलेबी की बहन कहा जाता है। जहां जलेबी को मैदे से तैयार किया जाता है वहीं इमरती उड़द दाल से बनती है और शायद यही वजह से इसके अलग जायके का। तो प्रयागराज आकर इमरती को टेस्ट करना बिल्कुल न मिस करें जो यहां हर एक मिठाई की दुकान पर आसानी से मिल जाएगी।

दौलत की चाट

चाट का नाम सुनकर कनफ्यूज़ न हों। ये यहां की बहुत ही मशहूर डेजर्ट है। फोम की शक्ल वाले इस चाट को केसर, इलायची, चीनी और दूध से तैयार किया जाता है। कुल्हड़ में ऊपर से पिस्ता और बादाम डालकर सर्व किया जाता है। दिखने में जितना अलग स्वाद में उतना ही खास होती है ये चाट।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here